यूपी निर्माण निगम के जीएम ‘शर्मा’ पर पहला ‘वार’

0
48

– शर्मा को उत्तराखंड से हटाकर लखनऊ मुख्यालय में किया गया अटैच
– आईटी की छापेमारी में शर्मा के पास 700 करोड़ की संपत्ति का अनुमान
– निगम के एमडी आरके गोयल करेंगे शर्मा के भ्रष्टाचार के आरोपों जांच
देहरादून: आयकर विभाग की छापेमारी के बाद विवादों में आए उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के महाप्रबंधक एसए शर्मा पर विभागीय स्तर पर पहली कार्रवाई की गई। शर्मा को जीमए पद से हटा दिया गया है। फिलहाल आरोप लगने के बाद उन्हें उत्तराखंड से निगम के लखनऊ स्थित मुख्यालय में अटैच कर दिया गया है। उन पर लगे निर्माण कार्यों में अनियमितता के आरोपों की विभागीय जांच निगम के एमडी करेंगे। आयकर विभाग की छापेमारी में शर्मा पर आय से अधिक करीब 700 करोड़ से अधिक की संपत्ति होने का अनुमान जताया जा रहा है।

यूपी निर्माण निगम के प्रबंध निदेशक आरके गोयल के मुताबिक देहरादून में महाप्रबंधन एसए शर्मा की अघोषित आय को लेकर तमाम रेकार्ड मिले हैं, उसे देखते हुए उन्हें पद से हटाने की विभागीय कार्रवाई की गई है। उनके खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है। उसमें मुख्य तौर पर आय से अधिक संपत्ति की पड़ताल की जाएगी। इसके साथ ही उत्तराखंड कार्य करने के दौरान अस्तित्व में आई तमाम परियोजनाओं को भी जांच के दायरे में लिया जाएगा।

एसए शर्मा के साथ उनके करीबी भी आयकर की छापेमारी की जद में आएंगे। देखा जाएग कि एसए शर्म के साथ आयकर की छापेमारी की जद में आए निगम ठेकेदार अमित शर्मा को कितने काम आवंटित किए गए हैं। काम देने में की गई नियमों की अनदेखी की पड़ताल भी कराई जा रही है। आयकर की लिस्ट में निगम के कई पूर्व अधिकारी भी रडार पर है, जिनके तार शर्मा से जुड़े थे। इसकी जांच पड़ताल शुरू कर दी गई। इसके अलावा शर्मा के रिलेटिव और नजदीकी लोगों की भी तलाश की जा रही है, जिनके नाम पर शर्मा ने करोड़ों रूपये का इन्वेस्ट किया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here